रामबाड़ तरीका : प्याज की उन्नत खेती करने का ऐसा आधुनिक तरीका जिसमे लागत आधी और पैदावार दोगुना! बुद्धिमान किसान ही करते है? | Onion Protective Farming

Onion Protective Farming: प्याज की खेती करने का एक ऐसा तरीका बताने वाले हैं जिसे आप शायद ही देखे होंगे या जानते है प्याज की खेती करने के इस तरीके में बहुत कम लागत आती है और पैदावार ताबड़तोड़ डेढ़ गुणी होती है भारत में नाम मात्र के किसान ही प्याज की इस आधुनिक विधि से खेती कर रहे है। और यह प्याज लगाने का ऐसा तरीका है जिसमे प्याज एक बार लगा दीजिए और भूल जाइए बस समय समय पर रोगों की निगरानी करनी होगी।

हम जिस तरीके की बात कर रहे है वह प्लास्टिक मल्चिंग है वैसे तो प्लास्टिक मल्चिंग में कई सारी फसले लगाई जाती है जिससे उन फसलो का उत्पादन अच्छा होता है और जो किसान एक बार प्लास्टिक मल्चिंग में किसी भी फसल की खेती कर लेता है फिर पुनः उसी तरीके से खेती करना पसंद करता है।

क्योंकि प्लास्टिक मल्चिंग में फसल लगाने का सबसे बड़ा लाभ यह होता है की जमीन में खरपतवार नही उगते जिससे खरपतवार को उखाड़ने अथवा नष्ट करने करने के लिए दवाइयों का खर्च बच जाता है जो आर्थिक रूप से बहुत बड़ी बचत हो जाती है प्लास्टिक मल्चिंग सिर्फ एक बार खरीदने पर 3 से 4 साल तक आराम से चल जाती है। और निराई गुड़ाई एवं खरपतवार नाशक दवाओं की लागत से तुलना किया जाए तो बड़ी बचत होती है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

आप हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से अवश्य जुड़े।

मल्चिंग में प्याज की मुनाफे वाली खेती

सामान्य विधि से प्याज की खेती करने पर एक एकड़ में यदि लगभग 50 किलो के 400 बोरा प्याज का उत्पादन होता है तो मल्चिंग में लगाने पर लगभग 500 से 550 बोरा अर्थात 250 – 275 क्विंटल उत्पादन निकलेगा।

प्याज एक ऐसी फसल है जिसमे खरपतवार बहुत उग आते है और खरपतवार को खत्म करने के लिए निराई गुड़ाई करनी पड़ती है जिसकी मजदूरी की लागत बहुत आती है। यह किसान के ऊपर आर्थिक रूप से बड़ा प्रभाव डालता है। इसके साथ ही प्याज की पैदावार भी प्रभावित होती है।

लेकिन प्याज की फसल को यदि मल्चिंग में लगाया जाए तो आधी समस्या सीधे ही खत्म हो जाति है। और मल्चिंग में प्याज की खेती करने से पानी की अधिक आवश्यकता नही होती है। क्योंकि ड्रिप सिस्टम से पानी की पूर्ति की जाति है। फसल में कोई भी खाद या पौधो को पोषक तत्व देना हो तो ट्रिप सिस्टम के माध्यम से दे दिया जाता है।

मार्केट में ऐसी कई सारी कंपनियां है जो प्याज की फसल लगाने के लिए एक परफेक्ट और कई सारे छेद वाले अर्थात प्री होल प्लास्टिक मल्चिंग मार्केट में सेल कर रही है। जिसमे एक होल से दूसरे होल के बीच 4 इंच का अंतर होता है।

मल्चिंग में प्याज की फसल लगाने के लिए सबसे पहले गोबर की खाद या वर्मी कंपोस्ट खाद अच्छी तरह से खेत में डाल दें उसके बाद बेसल डोज डालें और 5 फटी का बेड तैयार कर ले। बाजार में 4 फूट के प्याज की पसल लगाने के लिए प्री होल मल्चिंग मिलते है बेड पर मल्चिंग बिछा दे 2 बेड के बीच में 1 फूट का चलने के लिए अंतर होता है। मल्चिंग बिछाने से पहले ड्रिप लाइन बिछानी होती है। बेड पर 2 ड्रिप लाइन बिछाए।

प्याज की नर्सरी तैयार हो जाने पर जिस तरह साधारण विधि से बल्ब लगाया जाता है उसी तरह से मल्चिंग होल में प्याज का बल्ब लगाया जाता है।

एक एकड़ में 400 मीटर के 7 रोल लगते है।

Disclaimer : todaymandibhav.com वेबसाइट पर उपलब्ध करवाए गए सभी मंडी भाव कृषि चैनल व एजी मार्केट के भावो पर आधारित है, कृपया अपनी फसल को बेचने व खरीदने से पहले अपने पास की मंडी में फसल के भाव जांच अवश्य करें।
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Related Posts

bhindi ki ageti kheti

मौके पर छक्का मारे: भिंडी की अगेती खेती मालामाल कर देगी ! समय आ गया है बुवाई करने का

भिंडी की अगेती खेती ऐसी फसल है जो साल के अंतिम महीने तक कमाई कराती है। भिंडी की अगेती फसल ऐसी है जो देश के किसी भी…

Gehun Mein Kalle Kaise Badhaye

जापानी फार्मूला : गेहूँ में कल्लो की संख्या कैसे बढ़ाए | Gehun Mein Kalle Kaise Badhaye

Gehun Mein Kalle Kaise Badhaye: गेहूँ में कल्लो की संख्या कैसे बढ़ाए ऐसा क्या करें कि गेहूँ में अधिक से अधिक शाखाएं निकले ताकि गेहूँ का उत्पादन…

Sarson Me Pahli Sichai kaun sa khad dale

चमत्कारी फार्मूला : सरसों में पहली सिंचाई पर डाले यह खाद व स्प्रे उत्पादन 18 किवंटल की गारंटी ! वैज्ञानिक फार्मूला

सरसों की पहली सिंचाई में यदि इस खाद के फार्मूले का इस्तेमाल करते है तो उत्पादन 18 क्विंटल तक होगा। सरसों की पहली सिंचाई के समय ऐसी…

butter fruit nursery in India

मक्खन फल ने बनाया 26 साल के युवा को करोड़पति | Israel butter fruit nursery in India

मक्खन फल से 1000 स्क्वायर फीट क्षेत्र के खेत से 26 साल के इस युवा किसान ने 1 करोड़ रूपए एक साल में कमाए। जहाँ आज कल…

Low cost Polyhouse Kaise Banate hain

मजेदार जुगाड़: सिर्फ ₹10,000 में सबसे सस्ता और टिकाऊ पॉलीहाउस! अब सभी किसानों की आमदनी बढ़ेगी Low cost Polyhouse Kaise Banate hain

सबसे सरल और सस्ता Low cost Polyhouse Kaise Banate hain इस लेख के माध्यम से जानेंगे। यदि आपकी आर्थिक स्थिति इस लायक नहीं है कि आप एक…

Profitable Farming Kaise Kare

किसान इन फसलों से 8 से 10 लाख बड़ी आसानी से कमा सकता है। Profitable Farming Kaise Kare ?

Profitable Farming Kaise Kare: यदि किसान के पास मीठा पानी हो, ठीक-ठाक जमीन हो, पास में मंडी हो, तो वह किसान साल का 8 से 10 लाख…

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *